एसिडिटी के लिए अपनाये ये घरेलू उपाय

home remedies adopted for acidity

एिसिडटी या पेट मे गैस बनने वाली समस्या पेट मे डाइजेस्टिव सिस्टम के असंतुलन के कारण होने लगती है। इसके कुछ लक्षण इस प्रकार है पेट मे दर्द और गैस बनना, जी मचलाना, खट्टी खट्टी डकारें आना। यह काफी सामान्य बीमारी है जो किसी भी व्यक्ति हो सकती है।

एसिडिटी कब और कैसे होने लगती है।
जब हम भोजन करते है तो भोजन पेट के अंदर पाचन मे पहुचता है, तब भोजन की पाचन क्रिया के लिए एक एसिड तैयार होता है, जो कि भोजन को पचाने मे मदद करता है।
और जब यही एसिड आवश्यकता से अधिक बनने लगता है तो पेट मे गैस की समस्या होने लगती है।
जब हम भोजन को सही तरीके से नही करते है तो पेट के अन्दर को पाचनतंत्र भोजन को सही तरीके से पचा नही पाता जिस कारए पेट मे एसिड की समस्या होने लगती है।

ऐसे बहुत सारे घरेलू उपचार है जिनकी मदद से आप पेट की एसिडिटी के छुटकारा पा सकते है। ऐसे कुछ नुख्से नीचे दिए जा रहे है।

तुलसी की पत्तियां
तुलसी के पत्तों में गुणकारी तत्व पाये जाते है जो कि पेट मे एसिडिटी की समस्या और जी मचलाने जैसी समस्या से तुरन्त छुटकारा पाया जा सकता है।
• जब भी पेट मे गैस की समस्या होतो तुरन्त कुछ तुलसी की पत्तियां लेकर चबाकर खा लीजिए।
• या तो, एक कप पानी लीजिए उसमे तुलसी की कुछ पत्तियां लेकर उबाल लीजिए। कुछ मिनट बाद उसे उतार ले और ठंडा होने के बाद इसमे थोडा सा शहद मिलाकर पी लीजिए।

गुड़
गुड़ पाचन क्रिया का एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है। साथ ही यह एसिडिटी को कम करने मे मदद करता है।

• आप खाना खाने के बाद रोजाना एक गुड़ का टुकड़ा चबाकर खा लीजिए।
• कृपया डाइबिटीज के मरीज गुड़ का सेवन न करें।

छाछ
छाछ एसिडिटी के लिए एक सरल उपाय है इसमें लैक्टिक एसिड पायी जाती है जो कि पेट की एसिड को समाप्त कर देती है।

• सबसे पहले एक गिलास छाछ लीजिए अब उसमे थोडा सा मेथी के दानो का पावडर मिलाकर पी जाइये।
• एसिडिटी से तुरन्त छुटकारा पाने के लिए एक गिलास छाछ मे हरी धनिया के कुछ पत्ते या फिर काली मिर्च का पाउडर डालकर पी लीजिए।

लौंग

लौग हाइड्रोक्लोरिक एसिड को बढाता है और पेट की एसिडिटी को कम करता है। हम आपको बता दे कि यदि पेट मे एसिड की मात्रा कम होती है तब भी एसिडिटी की समस्या होने लगती है।

  • 2-3 लौंग लेकर उसे अच्छी तरह चबाकर खा ले जिससे उसका रसे आपके पेट में चला जाएगा और एसिडिटी से छुटकारा मिल सके।
  • या फिर, लौंग और इलाइची को पीसकर खा लीजिए जिससे खट्टी डकारें और एसिडिटी से छुटकारा मिल जाएगा।

सौंफ
सौंफ मे कार्मिनेटिव के गुण पाये जाते है जो कि पेट मे गैस की समस्या से राहत प्रदान करती है।
• रोजाना खाना खाने के बाद आप सौंफ के कुछ दानो को चबाकर खा लीजिए।
• या फिर एक गिलास पानी लेकर उसमे 2 चम्मच सौंफ डालकर उबाल लीजिए अब इस पानी को छानकर पी लीजिए ऐसा एक दिन मे 2-3 बार करें।

  • 5/5
  • 1 rating
1 ratingX
Very bad! Bad Hmmm Oke Good!
0% 0% 0% 0% 100%